गोवा में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा, कहा- पर्रिकर के पास बहुमत नहीं

गोवा में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा, कहा- पर्रिकर के पास बहुमत नहीं

कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश किया है. कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा को चिट्ठी लिखकर राज्य में सरकार बनाने का दावा किया है. पार्टी ने कहा कि विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के बाद से विधानसभा में बीजेपी के 13 विधायक हैं. मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार के पास बहुमत नहीं है. जो पार्टी अल्पमत में है उसको सरकार में रहने का कोई हक नहीं है. हम चाहते हैं कि मौजूदा सरकार को बर्खास्त किया जाए और सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका दिया जाए.
इस बीच गोवा बीजेपी के अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों को मीटिंग में शामिल होने के लिए बुलाया गया. उनके मुताबिक राज्य में सब कुछ ठीक है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस जब चाहे तब सरकार नहीं बना सकती. अप्रैल में गोवा में उपचुनाव होना है. पार्टी को उसके लिए भी तैयारी करनी है. हमें कांग्रेस की चिंता नहीं है.
बता दें कि गोवा के पूर्व उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा का हाल ही में निधन हो गया था. 64 साल के डिसूजा कैंसर से जूझ रहे थे. उनका अमेरिका में इलाज हो चुका था. वे गोवा राजीव कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में 1999 में गोवा विधानसभा के लिए चुने गए, और बाद में बीजेपी में शामिल हुए. वे 2002, 2007, 2012 और 2017 में भी विधानसभा के लिए चुने गए थे. 2012 में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनने पर डिसूजा को उप मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था.
गौरतलब है कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ा दल है और उसके पास 14 विधायक हैं. जबकि बीजेपी के पास 13 विधायक हैं. जिसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वड पार्टी के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है.

क्या लिखा पत्र में

राज्यपाल को लिखे पत्र में विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर ने सरकार बनाने का दावा पेश किया और बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार को बर्खास्त किये जाने की मांग की. कावलेकर ने कहा कि बीजेपी से संबंध रखने वाले विधायक फ्रांसिस डिसूजा के दुखद निधन के मद्देनजर आपको विनम्रतापूर्वक सूचित किया जा रहा है कि मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में राज्य सरकार सदन में बहुमत खो चुकी है.

पत्र में कहा गया है कि हमारा अनुमान है कि बीजेपी की संख्या में और कमी आयेगी और अल्पमत में होने वाली इस तरह की पार्टी को सत्ता में बने रहने की अनुमति नहीं दी जा सकती है. उन्होंने पत्र में कहा कि इसलिए यह आप पर निर्भर है कि आप बीजेपी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को बर्खास्त करें और यह सुनिश्चित करें कि कांग्रेस जो सदन में सबसे बड़ी पार्टी है और वर्तमान में जिसके पास बहुमत है, उसे सरकार बनाने के लिए बुलाया जाए. पत्र में कहा गया है कि इसलिए हम राज्य में सरकार बनाने का अपना दावा पेश कर रहे हैं और मांग करते है कि बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार को बर्खास्त करके हमें तत्काल सरकार बनाने के लिए बुलाया जाए.

पहले भी सरकार बनाने की मांग कर चुकी है कांग्रेस

बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर लंबे समय से बीमार चल रहे हैं और उनका गोवा, मुंबई और अमेरिका सहित कई जगहों के अस्पतालों में इलाज हो चुका है. वे दिल्ली के एम्स में अग्नाश्य संबंधी बीमारी का इलाज करा रहे थे. कांग्रेस इससे पहले भी राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर वैकल्पिक सरकार बनाने का न्यौता देने का अनुरोध कर चुकी है.