निर्भया केस को सॉल्व करने वाली ऑफिसर को मिला साहसी पुरस्कार

निर्भया केस को सॉल्व करने वाली ऑफिसर को मिला साहसी पुरस्कार

दिल्ली में हुए दशक के सबसे जघन्य सामूहिक निर्भया बलात्कार की जांच करने और दोषियों को पकड़ने वाली IPS अधिकारी छाया शर्मा को प्रतिष्ठित करेज एंड लीडरशिप अवार्ड से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार अमेरिका के एरिज़ोना स्टेट यूनिवर्सिटी में मैक्स्टन इंस्टीट्यूट फॉर इंटरनेशनल लीडरशिप द्वारा स्थापित है। हर साल इस किसी व्यक्ति या समूह को उसके मौलिक मूल्यों को ध्यान में रखते हुए असाधारण बहादुरी के लिए यह पुरस्कार दिया जाता है।

इस अवॉर्ड को प्राप्त करने के बाद छाया शर्मा ने कहा,मैं यह पुरस्कार प्राप्त करने के बाद खुद को गौरवान्वित महसूस कर रही हूं। इस अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार से मैं अभिभूत हूं, लेकिन मैं इस कठोर पेशे में विनम्र इंसान के तौर पर बनी रहूंगी। इससे मुझे सुकून मिलता है।' छाया शर्मा पुडुचेरी की पहली महिला एसएसपी (लॉ एंड ऑर्डर) थीं। वह दिल्ली में साउथ डिस्ट्रिक्ट की पहली महिला डीसीपी भी थीं। अभी वह राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में उप महानिरीक्षक हैं।

वे आगे कहती हैं, 'मैं अपने पेशे को लेकर काफी जुनूनी हूं क्योंकि यह मुझे संकट में पड़े लोगों की मदद करने का मौका देता है। हर बार जब मैं दूसरे लोगों को मुश्किल से निकालती हूं तो संतुष्ट महसूस करती हूं कि मैंने अपना कर्तव्य निभाया है। मेरे लिए यह पेशा भगवान का दिया हुआ आशीर्वाद है। मैं अपने पिता को दूसरों की मदद करते देख बड़ी हुई हूं। इससे मुझे प्रेरणा मिलती है।

हाल ही में नेटफ्लिक्स पर फिल्ममेकर रिची मेहता द्वारा निर्देशित दिल्ली क्राइम वेब सीरीज लॉन्च की है इसमें दिल्ली पुलिस के नजरिए से निर्भया केस को दिखाया गया है। इस वेब सीरीज में अभिनेत्री शेफाली शाह ने डीसीपी वर्तिका चतुर्वेदी की भूमिका निभाई है, यह किरदार पूर्व डीसीपी आईपीएश छाया शर्मा से प्रेरित है। छाया शर्मा ने इस मामले की जांच कर रहे 41 पुलिसकर्मियों का नेतृत्व किया था।