बगदादी जिंदा है! आईएस के सरगना का पांच साल में पहली बार वीडियो आया सामने

बगदादी जिंदा है! आईएस के सरगना का पांच साल में पहली बार वीडियो आया सामने

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के सरगना अबु बक्र अल-बगदादी का एक नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में वह सीरिया के बागूज में अपने आतंकी संगठन के हार की बात करता नजर आ रहा है। पिछले पांच साल में यह पहली बार है जब बगदादी का कोई ऐसा वीडियो सामने आया है। हालांकि, यह साफ नहीं है कि यह वीडियो कब शूट किया गया। कुछ ही हफ्ते पहले आईएस ने अपने मजबूत पकड़ वाले बागूज शहर को गंवा दिया था।

बगदादी इस वीडियो में एक गद्दी पर बैठे और तीन लोगों को संबोधित करते हुए नजर आ रहा है। वीडियो में इन तीनों व्यक्तियों के चेहरे धुंधले किए गए हैं। यह वीडियो इस लिहाज से अहम है क्योंकि पिछले कई दिनों से यह चर्चा चल रही थी कि बगदादी किसी हवाई हमले में या फिर घायल होने के बाद मारा गया है। हालांकि, उसके इस वीडियो के बाद बगदादी की मौजूदगी की बात एक बार फिर शुरू हो गई है।

बगदादी इस वीडियो में केवल 40 सेकेंड बात करता नजर आ रहा है। इस वीडियो में बगदादी कहता है, 'सच कहा जाए तो इस्लाम और इसके लोगों की क्रॉस और उसके लोगों से लड़ाई लंबी है।' वह कहता है, 'बागूज की लड़ाई खत्म हो चुकी है। इसने लेकिन ईसाइयों के मुस्लिम समाज के प्रति बेरहमी, क्रूरता को दिखाया है।' 

श्रीलंका में हुए हमले की ली जिम्मेदारी
बगदादी के इस वीडियो में लिखे हुए संदेश भी हैं जिसमें श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम धमाके का जिक्र है। हालांकि, यह बाते बगदादी खुद कहता नजर नहीं आ रहा है। बता दें कि इन हमलों की पिछले ही हफ्ते आईएस ने जिम्मेदारी ली थी। श्रीलंका में हुए इस आतंकी हमले में 250 से ज्यादा लोग मारे गये थे।

बगदादी के इस वीडियो के सामने आने के बाद अमेरिका भी हरकत में आ गया है। अमेरिका ने कहा है कि वह इस वीडियो के बारे में और जानकारी हासिल करेगा और आईएस के जिंदा सरगना को हरायेगा। 

कहां है बगदादी
कई सूत्रों और खुफिया जानकारियों के अनुसार पिछले साल सितंबर में आईएस में ही दो गुट के बीच विवाद शुरू हो गया था। एक गुट बगदादी को सत्ता से बेदखल करना चाहता था। इसके बाद विवाद इतना बढ़ा कि 7 जनवरी की रात दोनों गुटों के बीच गोलीबारी के बाद बगदादी को अपने बॉडीगार्ड्स के साथ बागूज छोड़ कर भागना पड़ा था। माना जा रहा है कि वह भाग कर इराक में आ गया था और वहां अनबर प्रांत में छिपा हुआ है।