मोहिनी एकादशी बनाएगी मालामाल, कल सुबह कर लें ये एक काम

मोहिनी एकादशी बनाएगी मालामाल, कल सुबह कर लें ये एक काम

हिन्दू धर्म में वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को 'मोहिनी एकादशी' कहा जाता है। इस साल यह एकादशी 15 मई 2019, दिन बुधवार को है। एकादशी के मौके पर लोग विष्णु एवं उनके अवतार की पूजा, व्रत और शास्त्रीय उपाय भी करते हैं। मोहिनी एकादशी भगवान विष्णु के स्त्री रूप को समर्पित है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसदिन भगवान विष्णु स्त्री रूप में प्रकट हुए थे, जिसे शास्त्रों में आकर्षक स्त्री 'मोहिनी' का नाम दिया गया। 

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार बुराई को खत्म करने और अच्छाई को सफलता के मार्ग पर ले जाने के लिए विष्णु ने स्त्री रूप लिया था। पौराणिक कथा में यह बताया गया है कि कैसे व्यक्ति मोह में आकर सफलता से दूर हो जाता है। भगवान विष्णु ने स्त्री रूप लेकर ही बुराई को अपनी ओर आकर्षित किया और उसे अपनी बातों में उलझाकर अच्छाई की मदद की।

मोहिनी एकादशी का महत्व
मोहिनी एकादशी का हिन्दू धर्म में अत्यधिक महत्व बताया गया है। मान्यता है कि इस एकादशी का व्रत एवं पूजन करने से व्यक्ति संसार के मोह से दूर होता है और सफलता को प्राप्त करता है। मोहिनी एकादशी को साधनाओं का दिन भी माना जाता है। भगवान विष्णु के स्त्री रूप को आकर्षक एवं बेहद शक्तिशाली माना गया है। इसलिए इनका पूजन कर कई मनोकामनाओं को पूरा किया जा सकता है।

मोहिनी एकादशी 2019 तिथि, पूजा का शुभ मुहूर्त
पंचांग के अनुसार 14 मई यानी मंगलवार की दोपहर 12 बजकर 59 मिनट पर ही वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि प्रारंभ हो जाएगी जो कि अगले दिन 15 मई, दिन बुधवार की सुबह 10 बजकर 36 मिनट तक चलेगी। चूंकि तिथि के प्रारंभ होने के बाद सूर्य उदय 15 मई से हो रहा है इसलिए एकादशी का व्रत एवं पूजन 15 मई को ही किया जाना उचित माना गया है। 15 मई की सुबह जल्दी उठकर, स्नान, पूजा करके व्रत का संकल्प लिया जाता सकता है।

मोहिनी एकादशी के उपाय
1) बच्चों के लिए उपाय

यदि बच्चे खुद उपाय कर सकें तो उत्तम हैं अन्यथा उनके माता-पिता उपाय करें। उपाय के अनुसार मोहिनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु को पूजा में पीले फल और फूल अर्पित करें। 11 केले और केसर भी अर्पित करें। पूजा के दौरान विष्णु की मूर्ति या तस्वीर के सामने बैठकर इस मंत्र का कम से कम एक माला जाप करें - 'ॐ नमो भगवती वासुदेवाय नमः'। पूजा की समाप्त पर बच्चों में फल बांटें और उनके माथे पर केसर का तिलक लगाएं।

2) मोहिनी एकादशी पर सफलता पाने का उपाय
यदि जीवन में सफलता के मार्ग बंद हो रहे हैं, लोग आपकी बता नहीं सुनते, समाज में मां-सम्मान कम है तो मोहिनी एकादशी के मौके पर नारायण स्त्रोत्र का पाठ करें। एकादशी के दिन इस पाठ की शुरुआत करें और अगले 21 दिनों तक रोजाना पाठ करके साधना को पूर्ण करें। आपने मन में जो भी इच्छा होगी वह अवश्य ही पूरी होगी। 

3) मोहिनी एकादशी पर धनवान बनने का उपाय
धन की कमी है,हो, कंगाली हो या आया हुआ धन रुकता नहीं है, तो ऐसे में मोहिनी एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठकर जल में हल्दी मिलाकर स्नान करें। विष्णु को पीला रंग अत्यंत प्रिय है। ऐसा करेंस ए उनकी कृपा होती है। स्नान के बाद विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। भगवान को पीली चीजें अर्पित करें। हल्दी की एक गांठ भी पूजा में शामिल करें। पाठ समाप्त होने पर इस गांठ को लपेटकर धन तिजोरी में रख दें। धन के योग बनेंगे।