श्रीलंका बम धमाका: 9 लोगों ने मिलकर दिया था घटना को अंजाम, एक महिला की भी थी अहम भूमिका

श्रीलंका बम धमाका: 9 लोगों ने मिलकर दिया था घटना को अंजाम, एक महिला की भी थी अहम भूमिका

श्रीलंका में ईस्टर संडे को जो जर्बदस्त बम धमाके हुए थे, उनमें एक महिला समेत नौ आत्मघाती हमलावर शामिल थे और इस हमले के संबंध में संदेह के आधार पर अबतक 60 लोग गिरफ्तार किये गये हैं। एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। 

स्थानीय इस्लामी चरमपंथी संगठन के सदस्य बताये जा रहे इन आत्मघाती बम हमलावरों ने रविवार को गिरजाघरों और लक्जरी होटलों में जबर्दस्त हमला किया था जिसमें कम से कम 359 लोगों की जान चली गयी थी। उधर, एएफपी के अनुसार इस हमले की जिम्मेदारी लेने वाले इस्लामिक स्टेट की ओर से मंगलवार को जारी वीडियो में जहरान हाशिम स्पष्ट रूप से नजर आ रहा है। 

ऐसा जान पड़ता है कि शायद उसने इन धमाकों में अहम भूमिका निभायी। वीडियो में आठ लोग दिख रहे हैं जिनमें केवल जहरान का चेहरा ढका नहीं है। रक्षा राज्यमंत्री रूवान विजेवर्द्धल ने कहा कि ये बम धमाके नेशनल तवहीद जमात (एनटीजे) ने नहीं, बल्कि उससे अलग हुए धड़े ने किये। श्रीलंका सरकार ने पहले इन धमाकों के लिए एनटीजे को जिम्मेदार ठहराया था। विजेवर्दन ने संवाददाताओं से कहा इस संगठन के सदस्यों के बीच मतभदे था और हमला उस धड़े ने किया जो मुख्य एनटीजे से अलग हो गया था।

विजेवर्दन ने कहा कि फिलहाल इस बात का कोई साक्ष्य नहीं है कि अलग हुए धड़े का कोई विदेशी संबंध था। पुलिस प्रवक्ता रूवान गुनासेकर ने बताया कि नौ आत्मघाती बम हमलावरों में आठ की शिनाख्त आपराधिक जांच विभाग ने कर ली है। नौवें बम हमलावर की एक आत्मघाती बम हमलवार की पत्नी के रूप में पुष्टि हुई है। 

10 भारतीयों के मरने की पुष्टि
उन्होंने बताया कि इस हमले में मरने वालों की संख्या बुधवार को 321 से बढ़कर 359 हो गयी गयी। दस भारतीयों के भी मरने की पुष्टि हुई है। करीब 500 लोग घायल हुए है। प्रवक्ता ने बताया कि इन बम धमाकों में हाथ होने के संदेह में 60 लोग गिरफ्तार किये गये हैं। उनमें से 32 सीआईडी की हिरासत में हैं। सारे श्रीलंकाई नागरिक हैं। 

अधिकतर हमलावर मध्य व उच्च वर्ग से रखते थे ताल्लुक
रक्षा राज्यमंत्री ने कहा, ‘‘ज्यादातर (आत्मघाती बम हमलावर) सुशिक्षित और संभवत: मध्य या उच्च मध्य वर्ग से थे। वे आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर थे और उनके परिवार भी आर्थिक रूप से स्थिर थे।’’ अधिकारियों के अनुसार मारे गये जिन विदेशियों की पहचान कर ली गयी है वे 34 हैं तथा 14 और विदेशी नागरिक हैं जिनकी पहचान नहीं हो पायी है। एएफपी के अनुसार इस्लामिक स्टेट के वीडियो में जो आठ चेहरे हैं उनमें जहरान हाशिम का चेहरा ढका नहीं है।

आईएस ने ली जिम्मेदारी 
वह आईएस प्रमुख अबू बक्र अल बगदादी के प्रति निष्ठा प्रकट कर सातों हमलावरों की अगुवाई करता दिख रहा है। स्थानीय मीडिया के अनुसार हाशिम ने 2014 में कटटांकुडी में एनटीजे बनाया था। जांच से जुड़े एक सूत्र ने एएफपी को बताया कि अभी इस बात का सबूत नहीं मिला है कि हाशिम आत्मघाती बम हमलावरों में था या नहीं। सूत्र ने कहा, ‘‘जबतक हम हरेक का डीएनए परीक्षण कर नहीं लेते तबतक हम पक्का नहीं हो सकते।’’